National Journal of Advanced Research

National Journal of Advanced Research


National Journal of Advanced Research
Vol. 2, Issue 1 (2016)

हिन्दी प्रदेश के लोक काव्य का विस्तार


डाॅ. जयराम त्रिपाठी

हिन्दी प्रदेश के लोककाव्य के मुख्य क्षेत्र हिमांचल प्रदेश, पूर्वी पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश हैं। इन प्रदेशों में विभिन्न क्षेत्रीय भाषायें एवं बोलियाँ प्रचलित हैं। हिन्दी प्रदेश के लोक काव्य का क्षेत्र अन्य भाषाओं की अपेक्षा अधिक विस्तृत है। हिन्दी की ग्रामीण बोलियों के अन्तर्गत डा0 धीरेन्द्र वर्मा में पांच उपभाषाएं: पश्चिमी हिन्दी, पूर्वी हिन्दी, बिहारी, राजस्थानी पहाड़ी तथा उसकी बोलियों को लिया है। तात्पर्य यह है कि जिस-जिस भाषा क्षेत्र ने हिन्दी को राजकीय भाषा स्वीकार किया है उसकी बोलियाँ भी हिन्दी के अन्तर्गत मान ली गई है।
Pages : 11-13 | 1548 Views | 541 Downloads